अपा लोग जानते है , किसी भी websites को सर्च engine से traffic लेकर आने के लिए, आपको अपना website का SEO करन बहुत जरूरी होता है।


अजा हम अपा लोगो को बताएंगे की SEO क्या है ? और अपने साइट को full SEO कैसे किया जाता है ?


किसे भी website को search engine optimization करने के लिए मुख्य 3 प्रकार से किए जाता है ? On page SEO, off page SEO, और technical SEO उपयोग होता है।



लेकिन अजा हम ON PAGE SEO क्या होता है ? इसका रैंकिंग फैक्टर्स और कौन कौन से है ? और on page optimization करने का 12 टेक्निक्स के बता करेंगे। अगर आपका एक ब्लॉग है तो आपको ये सारे बता पता होना बहुत जरूरी है , जिसे हम कम समय में अपना ब्लॉग रैंक कर सकते है।



on page SEO क्या है? On page SEO क्यू जरूरी है ?


seo एक सिमिलर प्रोसेस है , कोइं सोचता है कि हमरे साइट पर traffic है जिसे हमर ब्लॉग रैंक होजय । इसके लिए हमें अपना साइट search engine पर optimization करन पड़ता है।

 

अजर अपा सोचते है की अपक साइट free में traffic आय तो आपको अपन साइट पर अच्छा कंटेंट लिखना चाहिए जिसे अपक साइट में आने वाले यूजर को अच्छा लगे और अच्छी तरह समझ में अपने। क्या लिखा है, जिसे आपका साइट रैंक होगा।

इस कोशिश हमें लोग अपना साइट का आर्टिकल quality optimization करना अच्छा keyword को आर्टिकल के सहिए जगह placement करना।


इसलिए हमें बहुत कमा करना पड़ता है : headline, tittle, met description url को अच्छे से optimization करना।


On page SEO करना क्यू जरूरी है ?



अगर आपका ब्लॉग गूगल में रैंक नहीं होता है, तो हम इस तकनीक को आपको बता रहे है जिसे अपक वेबसाइट धीरे धीरे गूगल में रैंक करने लगेगा ।



इसलिए अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल में रैंक करने के लिए आपको सर्च engine optimization सीखना बहुत जरूरी है। 


On page SEO करने वाला व्यक्ति खुदा ही उसका मालिक होता है क्यू की SEO करने वाला पूरा control आपके हाथ में होता है।


On page SEO ranking factors कौन कौन सा है ?


ब्लॉग पोस्ट को search engine (serp) में first page लेकर आने के लिए , हमें अपन ब्लॉग के अंदर चिजो को अच्छी तरह से optimization karna पड़ता है। 


ब्लॉग पोस्ट को optimization कैसे करे :-

• Heading 

• keyword 

• Tittle

• Description

• url

• links

• page speed

• mobile page SEO friendly



On page SEO कैसे करे? On page SEO 12 technic ?


On page SEO कैसे करे चलिए जानते है, seo करने के लिए क्या क्या करन पड़ता है ।


1. Content एक नीच पर होना चाहिए


अपा जिस topic पर आर्टिकल लिखा रहे हैं आपको उसी टॉपिक पर लिखे बेवजह इधर उधर की या हुए उसी चीजा को एड करे। जिस topic article लिखा रहे है उसको अपा सरल भाषा में लिखे जिसे आपका visitors confuse ना हो।


2. कीवर्ड reserch करे

 अपने साइट ज्यादा ट्रैफिक लेकर आने के लिए कीवर्ड research करना पड़ेगा, अगर हम कीवर्ड rresearch करके आर्टिकल लिखते है तो हमर साइट रैंक होना लगेगा जिस topic keyword research कर रहा है उसी कीवर्ड को target करन चाहिए।


3. Target keyword को अपने 50 शब्दों पर लिखे


अपा आर्टिकल जिस कंटेंट पर उसी कंटेंट पर शुरवात लाइन में क्लियर लिखना चाहिए जिसे, शुरवात में उसी टॉपिक से रिलेटेड लिखना चाहिए जिस शब्दों में बयान होना चाहिए। 


अपना focus Keyword रखन अति जरूरी है जिसे seo करना अशन होता है।


4. Post tittle में कीवर्ड add करे


जब टारगेट कीवर्ड पर ब्लॉग पोस्ट पर tittle लिखते है , तो इसे seo करना बहुत प्रभाव कारी होता है।

इसलिए जहा तक हो सके अपने main keywords को अपन tittle पर लिखे।


5. Meta description 


Meta description में अपन पोस्ट के बारे में छोटा सा डिस्क्रिप्शन एड करे उसमे 130 शब्दों का होना चहिए। ऐसा करने से keyword tittle और दोनों को गूगल और description को highlights करता है।


6. Subheadings


Post के अंदर हमें subheadings ka उपयोग करन चाहिए यह h2tag main होना चाहिए।

Subheadings के अंदर कई सारे subheadings add कार सकते है।


Subheadings का उपयोग करते समय structures का ध्यान रखना चाहिए।


7. Keyword frequency


Keyword ऐसे रखे जिसे पढ़ने वाले अनातुराल नलगे , इसा तरह से हमें keyowrd placement करना चाहिए। जरूरत के अनुसार कीवर्ड का उपयोग करे। 


एक बार मैं उसी keywords को बार बार ना लिखे keywords sugoing का खतरा हो सकता है।


8. External link 


अपा जिस topic पार आर्टिकल लिखा रहे है अपा उसी टॉपिक का मिलता हुआ लिंक अपनी दूसरी पोस्ट का लिंक एड करे ऐसा करेंगे तो अपक साइट boost करेगा।


9. Internal linking 


अपने ही ब्लॉग पोस्ट का लिंक अपने ही आर्टिकल में एड करने से उसे इंटरनल linking कहते है।

अगर अपा कोई आर्टिकल लिखा रहा है रोज उसी कंटेंट से मिलता हुआ आर्टिकल पहले से ही है तो अपा उस का लिंक एड कर सकते है।


कम रैंक पोस्ट वाली लिंक high authority कम वाले psot लिंक डालकर उसे इंप्रूव कर सकते हो।


10. SEO friendly url structures


अपक कोई ब्लॉग पोस्ट का लिंक छोटा है , उसमे traget keyword समिला है तो आपका सिये गूगल अच्छी तरह से optimization करता है उस url का ध्यान रखता है।


उसको permlink भी कहते है।


11. Image optimization


अपन साइट का इमेज optimization करे जिसे गूगल उस इमेज से user ka पता करता है, जिसे हमें इमेज में focus Keyword add करना, ALT text same keywords use करना।


12. Page speed improve


Google algorithm अनुसार website की स्पीड रैंकिंग signal को समेल की गई है।

अगर आपका साइट slow है तो अपक साइट users आने में पसन्द नहीं करते है अपना साइट का स्पीड बढ़ाने के लिए गूगल amp का use करे।

On Page SEO क्या है और कैसे करें- ( on page seo in hindi-2020 )

 


 



अपा लोग जानते है , किसी भी websites को सर्च engine से traffic लेकर आने के लिए, आपको अपना website का SEO करन बहुत जरूरी होता है।


अजा हम अपा लोगो को बताएंगे की SEO क्या है ? और अपने साइट को full SEO कैसे किया जाता है ?


किसे भी website को search engine optimization करने के लिए मुख्य 3 प्रकार से किए जाता है ? On page SEO, off page SEO, और technical SEO उपयोग होता है।



लेकिन अजा हम ON PAGE SEO क्या होता है ? इसका रैंकिंग फैक्टर्स और कौन कौन से है ? और on page optimization करने का 12 टेक्निक्स के बता करेंगे। अगर आपका एक ब्लॉग है तो आपको ये सारे बता पता होना बहुत जरूरी है , जिसे हम कम समय में अपना ब्लॉग रैंक कर सकते है।



on page SEO क्या है? On page SEO क्यू जरूरी है ?


seo एक सिमिलर प्रोसेस है , कोइं सोचता है कि हमरे साइट पर traffic है जिसे हमर ब्लॉग रैंक होजय । इसके लिए हमें अपना साइट search engine पर optimization करन पड़ता है।

 

अजर अपा सोचते है की अपक साइट free में traffic आय तो आपको अपन साइट पर अच्छा कंटेंट लिखना चाहिए जिसे अपक साइट में आने वाले यूजर को अच्छा लगे और अच्छी तरह समझ में अपने। क्या लिखा है, जिसे आपका साइट रैंक होगा।

इस कोशिश हमें लोग अपना साइट का आर्टिकल quality optimization करना अच्छा keyword को आर्टिकल के सहिए जगह placement करना।


इसलिए हमें बहुत कमा करना पड़ता है : headline, tittle, met description url को अच्छे से optimization करना।


On page SEO करना क्यू जरूरी है ?



अगर आपका ब्लॉग गूगल में रैंक नहीं होता है, तो हम इस तकनीक को आपको बता रहे है जिसे अपक वेबसाइट धीरे धीरे गूगल में रैंक करने लगेगा ।



इसलिए अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल में रैंक करने के लिए आपको सर्च engine optimization सीखना बहुत जरूरी है। 


On page SEO करने वाला व्यक्ति खुदा ही उसका मालिक होता है क्यू की SEO करने वाला पूरा control आपके हाथ में होता है।


On page SEO ranking factors कौन कौन सा है ?


ब्लॉग पोस्ट को search engine (serp) में first page लेकर आने के लिए , हमें अपन ब्लॉग के अंदर चिजो को अच्छी तरह से optimization karna पड़ता है। 


ब्लॉग पोस्ट को optimization कैसे करे :-

• Heading 

• keyword 

• Tittle

• Description

• url

• links

• page speed

• mobile page SEO friendly



On page SEO कैसे करे? On page SEO 12 technic ?


On page SEO कैसे करे चलिए जानते है, seo करने के लिए क्या क्या करन पड़ता है ।


1. Content एक नीच पर होना चाहिए


अपा जिस topic पर आर्टिकल लिखा रहे हैं आपको उसी टॉपिक पर लिखे बेवजह इधर उधर की या हुए उसी चीजा को एड करे। जिस topic article लिखा रहे है उसको अपा सरल भाषा में लिखे जिसे आपका visitors confuse ना हो।


2. कीवर्ड reserch करे

 अपने साइट ज्यादा ट्रैफिक लेकर आने के लिए कीवर्ड research करना पड़ेगा, अगर हम कीवर्ड rresearch करके आर्टिकल लिखते है तो हमर साइट रैंक होना लगेगा जिस topic keyword research कर रहा है उसी कीवर्ड को target करन चाहिए।


3. Target keyword को अपने 50 शब्दों पर लिखे


अपा आर्टिकल जिस कंटेंट पर उसी कंटेंट पर शुरवात लाइन में क्लियर लिखना चाहिए जिसे, शुरवात में उसी टॉपिक से रिलेटेड लिखना चाहिए जिस शब्दों में बयान होना चाहिए। 


अपना focus Keyword रखन अति जरूरी है जिसे seo करना अशन होता है।


4. Post tittle में कीवर्ड add करे


जब टारगेट कीवर्ड पर ब्लॉग पोस्ट पर tittle लिखते है , तो इसे seo करना बहुत प्रभाव कारी होता है।

इसलिए जहा तक हो सके अपने main keywords को अपन tittle पर लिखे।


5. Meta description 


Meta description में अपन पोस्ट के बारे में छोटा सा डिस्क्रिप्शन एड करे उसमे 130 शब्दों का होना चहिए। ऐसा करने से keyword tittle और दोनों को गूगल और description को highlights करता है।


6. Subheadings


Post के अंदर हमें subheadings ka उपयोग करन चाहिए यह h2tag main होना चाहिए।

Subheadings के अंदर कई सारे subheadings add कार सकते है।


Subheadings का उपयोग करते समय structures का ध्यान रखना चाहिए।


7. Keyword frequency


Keyword ऐसे रखे जिसे पढ़ने वाले अनातुराल नलगे , इसा तरह से हमें keyowrd placement करना चाहिए। जरूरत के अनुसार कीवर्ड का उपयोग करे। 


एक बार मैं उसी keywords को बार बार ना लिखे keywords sugoing का खतरा हो सकता है।


8. External link 


अपा जिस topic पार आर्टिकल लिखा रहे है अपा उसी टॉपिक का मिलता हुआ लिंक अपनी दूसरी पोस्ट का लिंक एड करे ऐसा करेंगे तो अपक साइट boost करेगा।


9. Internal linking 


अपने ही ब्लॉग पोस्ट का लिंक अपने ही आर्टिकल में एड करने से उसे इंटरनल linking कहते है।

अगर अपा कोई आर्टिकल लिखा रहा है रोज उसी कंटेंट से मिलता हुआ आर्टिकल पहले से ही है तो अपा उस का लिंक एड कर सकते है।


कम रैंक पोस्ट वाली लिंक high authority कम वाले psot लिंक डालकर उसे इंप्रूव कर सकते हो।


10. SEO friendly url structures


अपक कोई ब्लॉग पोस्ट का लिंक छोटा है , उसमे traget keyword समिला है तो आपका सिये गूगल अच्छी तरह से optimization करता है उस url का ध्यान रखता है।


उसको permlink भी कहते है।


11. Image optimization


अपन साइट का इमेज optimization करे जिसे गूगल उस इमेज से user ka पता करता है, जिसे हमें इमेज में focus Keyword add करना, ALT text same keywords use करना।


12. Page speed improve


Google algorithm अनुसार website की स्पीड रैंकिंग signal को समेल की गई है।

अगर आपका साइट slow है तो अपक साइट users आने में पसन्द नहीं करते है अपना साइट का स्पीड बढ़ाने के लिए गूगल amp का use करे।